लॉक डाउन के नाम पर लोगों को प्रताड़ित किया रहा है।डॉ. सुनीलम

लॉक डाउन के नाम पर लोगों को प्रताड़ित किया रहा है।बैतूल शाहपुर में पुलिस ने कल शाम से 200 लोगों को रोक कर रखा है। 35 को बेंगलुरु पुलिस की अनुमति के वावजूद रोका। 50 घंटे से रुके हैं लोग।


दिल्ली से ग्वालियर तक रास्ते का आंखों देखा हाल लिखा था। रास्ते भर लोग पैदल चल रहे हैं।लोग खाना भी रास्ते मे बांट रहे हैं। ट्रकों में पुलिस लोगों को बिठाकर रवाना कर रही है।
एक घंटा पहले सांसद दानिश अली का फोन आया ।बोले बैतूल के शाहपुर थाना में उनके संसदीय छेत्र के 35 लोगों को रोक रखा है। मैंने थाना प्रभारी को फोन किया बोला ऊपर का आदेश है । पुलिस अधीक्षक से बात की बोले मेरे हाथ मे नहीं जिलाधीश से बात कीजिये। जिलाधीश बोले मैंने कमिश्नर की जानकारी में ला दिया है । यहां से छोड़ दूंगा तो सभी जिलों के बॉर्डर सील हैं। कोई नहीं जाने देगा।
मैंने कहा जिलाधीश के पास पर मैं अभी आया हूँ। बोले शासन ही कुछ कर सकता है।
बेंगलुरु से 35 लोग अमरोहा के लिए पिक अप से निकले   5 राज्यों की पुलिस ने आने दिया 30 तारीख की शाम को  शाहपुर में रोक दिया कल से वहीं पड़े हैं।200 से अधिक लोग हैं।एक सरकारी स्कूल में बंद कर दिया गया है ,बाहर भी नहीं निकलने दिया जा रहा ।उनमें बहुत सारी महिलाएं हैं।गर्भवती महिलाएं भी हैं। जैसा होता है ,दाल चावल दिया गया। डाल का अता पता नहीं ।आलू की सब्जी आलू का पता नहीं। 
मोदी ने पूरे देश को इतनी परेशानी में डाला है।इन 200 लोगों के माध्यम से समझाया जा रहा है कि डिटेंशन सेंटर कैसे होंगे। सरकार की कोई नीति नहीं है ,जो 28 को बेंगलुरु पुलिस से अनुमति लेकर  निकला उसको रोकने का क्या औचित्य हो सकता है। मैंने दिल्ली से ग्वालियर के बीच एक भी आदमी को पुलिस द्वारा स्थायी तौर पर रोके हुए नहीं देखा। लेकिन बैतूल की प्रशानिक और पुलिस मशीनरी आदेश के तकनीकी पक्ष को देख रही है। मानवीय स्तर पर नहीं। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकना लॉक डाउन का मकसद है लोगों परेशान और जलील करना नहीं। या तो बेंगलुरु पुलिस को वहीं से नहीं निकलने देना था,यदि निकलने दिया तो उन्हें समारोह पहुंचने देना था। बैतूल के पत्रकार इरशाद भाई और अन्य पत्रकारों ने दिन में प्रयास किया था ,लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। इसी को रेड टेपिजम कहते है। लकीर के फ़क़ीर बनकर अधिकारी आम नागरिकों को परेशान कर रहे हैं।
अब कल गृह सचिव और कमिश्नर से  बात करूंगा। 
आप भी बात करें । dmbetul@ nic.in पर ईमेल भेजें।जिलाधीश से मोब नंबर  9009432792पर बात करें ।मुख्यमंत्री को मेल करें। जो रोके गए हैं उनमें एक कादिर भाई अमरोहा के है उन्हें  आप अधिक जानकारी के लिए संपर्क कर सकते हैं। 9738202948
डॉ सुनीलम