सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत !!!covid-19का परीक्षण मुफ्त!!!

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत !!!covid-19का परीक्षण मुफ्त!!!


आज सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति अशोक भूषण व रविंद्र भट्ट जी की खंडपीठ के द्वारा कोविड-19 19 के संबंध में यह विशेष निर्णय दीया गया है की शासकीय हो या निजी, हर स्वास्थ्य केंद्र या संस्था में कोविड-19 का वैद्यकीय परीक्षण मुफ्त में होना चाहिए।


 यह स्वागत योग्य फैसला है !नर्मदा बचाओ आंदोलन व जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय इसका स्वागत ही करेगा! जबकि करोड़ों रुपयों का फंड इकट्ठा करके प्रधानमंत्री जी के ही नाम नया ट्रस्ट बनाया गया है और शासन कई स्रोतों से आपदा प्रबंधन के नाम बने फंड में भी निधि जुटा रही है, अमेरिका सहित अन्य देशों को मदद की उदारता स्थापित की जा रही है.... तो फिर परीक्षण जैसा बुनियादी कार्य विज्ञापनों के द्वारा ₹4500 तक की खर्चीली कैसे हो सकती है ??
वैद्यकीय सेवा, उपचार ,एवं वैद्यकीय सेवकों को सही उपकरण ,सुविधा उपलब्ध करने पर सरकार जब कंजूसी दिखाती है तब सुप्रीम कोर्ट का ऐसा स्पष्ट निर्देश जरूरी हो गया था! जबकि देश में गैर बराबरी छाई हुई है और कोई भी वायरस या बीमारी ना जात धर्म देखती है ना वर्ग भेद मानती है ,तब सभी को ही मुक्त परीक्षण का फैसला और निजी स्वास्थ्य सेवाओं को भी जिम्मेदारी निभाने का आदेश निश्चित ही स्वागत योग्य है!


 अर्थात सुप्रीम कोर्ट ने यह भी स्पष्ट किया है की डब्ल्यूएचओ या इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने जिन्हें सहमति दी है उन्हीं संस्थाओं में कोविड-19 का परीक्षण किया जा सकता है! भारत के स्वास्थ्य सेवाओं में चल रहा भ्रष्टाचार और उपचार दोनों पर अंतर्राष्ट्रीय रिपोर्ट ने बहुत अहम पोल खोल की है !इसलिए आदेश का यह दूसरा हिस्सा भी जरूरी था !सर्वोच्च अदालत से अपेक्षा है कि आज की विशेष परिस्थिति में कोविड-19 के चलते और लॉक डाउन के बनते जो जो समस्या देश के सामान्य नागरिक और विशेषता मेहनतकश भुगत रहे हैं उन सब पर अपना आदेश दें .....और किसान ,मजदूर, सभी भूमिहीन, गरीब माताएं, बच्चे आदि भुक्तभोगी समुदायों के लीए सभी अहम मुद्दों पर suo moto यानी खुद होकर हस्तक्षेप भी करें !!


नर्मदा बचाओ आंदोलन ,बड़वानी मध्य प्रदेश। संपर्क 9755544097,महेंद्र तोमर।