बिहार विधानसभा सत्र : बिहार में जाति आधारित जनगणना का प्रस्ताव पास

बिहार विधानसभा में बजट सत्र के चौथे दिन आज सदन में बिहार में जाति आधारित जनगणना का प्रस्ताव पास हो गया है. बिहार में 2021 की जनगणना जातिगत आधार पर होगी. सीएम नीतीश कुमार ने कई बार जाति आधारित जनगणना होने का जिक्र अपने कई बयानों से किया था. लेकिन इस प्रस्ताव पास होने से आज ये साफ हो गया.


इससे पहले राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद जातीय आधार पर जनगणना की मांग करते रहे थे.इसके अलावे बिहार की तमाम विपक्षी पार्टी के एजेंडा में जातीय आधारित जनगणना की बात है. NRC का प्रस्ताव के बाद अब जाति आधारित जनगणना का प्रस्ताव पास करके सीएम नीतीश ने एक बार में सभी विपक्षों दलों से एक और मुद्दे को छीन लिया है।


इससे पहले बिहार विधानसभा में गुरुवार को जमकर हंगामा हुआ। विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि बिहार में लालटेन युग समाप्त हो गया, अब बिजली आ गई है। इतना सुनते ही राजद सदस्य वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। मंत्री ने कहा कि एक पिछड़ा समाज का नेता प्रेम कुमार मंत्री बना है तो राजद को सुहा नहीं रहा। सदन में भारी शोर शराबे के कारण कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।